Monday, November 23, 2020
Home देश नगरोटा एनकाउंटर में बड़ा खुलासा, जैश सरगना मसूद अजहर का भाई था...

नगरोटा एनकाउंटर में बड़ा खुलासा, जैश सरगना मसूद अजहर का भाई था मास्टरमाइंड


नई दिल्ली
जम्मू कश्मीर के नगरोटा (Nagrota Encounter) में गुरुवार को हुए एनकाउंटर पर बड़ा खुलासा हुआ है। सरहद पार से भारत आए जैश ए मोहम्मद ( jaish e mohammed) के चार आंतकियों को भारतीय सुरक्षाबलों ने मौत के घाट उतार दिया। ये आतंकवादी भारत में बड़ी तबाही के इरादे से दाखिल हुए थे मगर सुरक्षाबलों ने इनके और सरहद पार बैठे इनके आकाओं के सभी अरमानों पर पारी फेर दिया। सूत्रों के हवाले से पता चला है कि इसके पीछे आतंकी मसूद अजहर (Masood Azhar) के भाई का हाथ है।

सीमापार बनी थी योजना
बीते गुरुवार की सुबह, नगरोटा के पास बान टोल प्लाजा पर आतंकवादियों और सुरक्षा बलों के बीच मुठभेड़ हुई। इसमें चार आतंकवादी मारे गए, लेकिन यह सिर्फ एक मुठभेड़ नहीं थी। यह एक खुफिया-आधारित ऑपरेशन था। सुरक्षाबलों ने माना है कि इसका उद्देश्य एक बड़ा हमला करना हो सकता था, जिसकी योजना सीमा पार से बनाई गई थी। जैश के मेन आतंकी कैंप से चार जिहादियों का चयन भी मसूद अजहर के भाई ने किया था। वहां पर इनकी एक मीटिंग भी हुई थी।

मसूद अजहर का छोटा भाई
पाकिस्तान स्थित आतंकी समूह जैश-ए-मोहम्मद (जेएम) के ऑपरेशनल कमांडरों मुफ्ती रऊफ असगर और कारी ज़ार के संपर्क में थे। इनका उद्देश्य घाटी में कहर बरपाने का था। मुफ्ती असगर जेएम प्रमुख और संयुक्त राष्ट्र नामित वैश्विक आतंकवादी मसूद अजहर का छोटा भाई है। मामले के जानकारों का कहना है कि मारे गए आतंकियों के पास से मिले जीपीएस डिवाइस और मोबाइल फोन की आधार पर की गई शुरुआती आंकड़ों से पता चलता है कि ये सभी पाकिस्तान से ही यहां आए थे।

पाकिस्तान से सुरंग खोद भारत में आए आतंकी, चीन में बने हथियार… नगरोटा में ढेर आतंकियों के इन कनेक्शन से सेना अलर्ट

बड़े हमले के फिराक में थे सभी आतंकी
मुफ्ती असगर जेईएम प्रमुख और संयुक्त राष्ट्र द्वारा नामित वैश्विक आतंकी मसूद अजहर का छोटा भाई है। आतंकियों के साथ मुठभेड़ इत्तेफाक से नहीं हुई थी। यह खुफिया सूचना आधारित ऑपरेशन था। सुरक्षाबलों का मानना है कि सीमापार से आए आतंकी एक बड़े हमले को अंजाम देने वाले थे। इस घटना से संबंधित जानकारी रखने वाले लोगों का कहना है कि ग्लोबल पोजिशनिंग सिस्टम (जीपीएस) डिवाइस के शुरुआती आंकड़ों से और चारों आतंकवादियों के पास मिले मोबाइल फोन से पता चलता है कि वे पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) के ऑपरेशनल कमांडर मुफ्ती रऊफ असगर और कारी जरार के संपर्क में थे। इनका मकसद कश्मीर घाटी में बड़ा हमला करना था।

कहां पहुंचे? कोई मुश्किल तो नहीं?…नगरोटा में ढेर आतंकियों के मोबाइल से खुला राज
पीएम मोदी ने की थी अहम बैठक
नगरोटा एनकाउंटर के अगले दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अहम बैठक में अमित शाह, अजीत डोभाल के अलावा, विदेश सचिव और शीर्ष खुफिया विभाग के अधिकारी शामिल हुए। सरकारी सूत्रों के अनुसार, नगरोटा एनकाउंटर में ढेर हुए चारों आतंकवादी मुंबई हमले (26/11) की बरसी के मौके पर बड़ा हमला करने की योजना बना रहे थे। समीक्षा बैठक में नगरोटा एनकाउंटर पर विस्तार से चर्चा की गई।

पीएम मोदी ने किया था ट्वीट
इस बैठक के बाद पीएम मोदी ने ट्वीट किया था कि पाकिस्तान स्थित आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद से जुड़े 4 आतंकवादियों को मार गिराया जाना और उनके पास बड़ी मात्रा में हथियारों और विस्फोटकों की मौजूदगी संकेत देती है कि वे तबाही और विनाश को भड़काने वाले थे, लेकिन उनके प्रयासों को एक बार फिर से विफल कर दिया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

लव जिहाद के खिलाफ कानून

मुंबईशिवसेना सांसद संजय राउत ने सोमवार को कहा कि पहले नीतीश कुमार नीत बिहार सरकार को 'लव जिहाद' के खिलाफ कानून लाने दें,...

Ind vs Aus: सीरीज से पहले बोले डेविड वॉर्नर, क्वारंटीन जारी रहता है तो परिवार छोड़ना मुश्किल होगा

नई दिल्लीऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज डेविड वॉर्नर ने साफ कर दिया है कि अगर कोविड-19 महामारी जारी रहती है तो विदेशों का नियमित दौरा करना...

kartik aaryan response to deepika padukone: दीपिका पादुकोण ने साथ में फिल्म करने की जताई इच्छा, कार्तिक आर्यन ने दिया ये जवाब – kartik...

कार्तिक आर्यन ने बीते रविवार को अपना 30वां जन्मदिन मनाया था। इस मौके पर बॉलिवुड सिलेब्स ने सोशल मीडिया के जरिए शुभकामनाएं दी...

इलेक्ट्रिक वीकल्स के लिए सरकार की बड़ी योजना, हर पेट्रोप पंप पर लगेगा चार्जिंग कियोस्क

हाइलाइट्स:देश के 69000 पेट्रोल पंपों पर कम से कम एक इलेक्ट्रिक वीकल चार्जिंग कियोस्क लगेगाअगले 5 साल में भारत को ऑटोमोबाइल मैन्युफैक्चरिंग हब...

Recent Comments